बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई): महत्व और सीमाएं – Body Mass Index (BMI): Importance And Limitations In Hindi

बॉडी मास इंडेक्स

बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) क्या है – What Is BMI (Body Mass Index) In Hindi

What Is BMI And What It Stands Forबॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) आमतौर पर ऊंचाई और वजन के आधार पर शरीर में वसा का एक माप है, जो वयस्क पुरुषों और महिलाओं दोनों पर लागू होती है।

बीएमआई चार्ट यह मापने के लिए एक उपयोगी उपकरण है कि क्या कोई व्यक्ति कम वजन, ज्यादा वजन या मोटापे से ग्रस्त है। यह मोटापे से संबंधित स्वास्थ्य समस्याओं के बारे में भी बता सकता है। इनमें दिल की बीमारी, डायबिटीज और उच्च रक्तचाप के विकास का जोखिम शामिल है।

सबसे व्यापक रूप से उपयोग किए जाने वाले मापदंडों में से एक बीएमआई आपके स्वास्थ्य को बता सकता है। कई लोग अपने सामान्य स्वास्थ्य के बारे में जानने के लिए वर्षों से इसका उपयोग कर रहे हैं। हालांकि, ज्यादातर मापदंडों के साथ बीएमआई हमेशा सटीक नहीं होता है। यह बताने में सक्षम नहीं है कि आप अगले कुछ वर्षों में क्या होंगे, लेकिन इससे आप अपने वर्तमान स्वास्थ्य के बारे में बहुत कुछ जान सकते हैं। इस ब्लॉग पोस्ट में हम बीएमआर चार्ट और सामान्य बीएमआई पर चर्चा करेंगे। साथ ही आप बीएमआई का महत्व और सीमाओं के बारे में भी जानेंगे।

बॉडी मास इंडेक्स चार्ट – Body Mass Index Chart In Hindi

बॉडी मास इंडेक्स या बीएमआई एक गणना है, जो बताती है कि आपकी ऊंचाई के लिए आपके शरीर का स्वस्थ वजन है या नहीं। बीएमआई चार्ट दिखाता है कि आपका बीएमआई बाकी लोगों की तुलना में कैसा है। 18.5 से कम बीएमआई का मतलब आप कम वजन के हैं। जबकि, 18.5 और 24.9 के बीच का मतलब है कि आप स्वस्थ वजन पर हैं। इसी तरह 25 और 29.9 के बीच का मतलब ज्यादा वजन और 30 या इससे ऊपर का मतलब है कि आप मोटे हैं।

बीएमआईवजन की स्थिति
18.5 से कमकम वजन
18.5 – 24.9स्वस्थ वजन
25.0 – 29.9ज्यादा वजन
30.0-34.9मोटापा वर्ग 1
35 – 39.9मोटापा वर्ग 2
40 से ज्यादामोटापा वर्ग 3

अगर आपका बीएमआई ज्यादा वजन या मोटापे की सीमा में है, तो अपना वजन कम करने के लिए आपको जरूरी कदम उठाने चाहिए। ज्यादा वजन से कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं, जिनमें दिल की बीमारी, डायबिटीज और कुछ प्रकार के कैंसर शामिल हैं। अगर आप अपने वजन के बारे में परेशान हैं, तो अपने स्वास्थ्य में सुधार के तरीकों के बारे में अपने डॉक्टर या पंजीकृत आहार विशेषज्ञ से बात करें।

बॉडी मास इंडेक्स का महत्व – Importance Of Body Mass Index In Hindi

Why Is BMI Important?जब वजन प्रबंधन की बात आती है, तो बीएमआई यह आंकलन करने में मदद के लिए एक उपयोगी उपकरण है कि कोई व्यक्ति स्वस्थ वजन पर है या नहीं। हालांकि, आपको याद रखना चाहिए कि यह विचार करने के लिए सिर्फ एक कारक है। इसी तरह कुछ अन्य कारक भी आपके वजन को प्रभावित कर सकते हैं, जिनमें आहार, शारीरिक गतिविधि स्तर और आनुवंशिकी शामिल हैं।

आमतौर पर आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए वजन प्रबंधन को बहुत जरूरी माना जाता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि ज्यादा वजन या मोटापे के कारण दिल की बीमारी, स्ट्रोक, टाइप 2 डायबिटीज और कुछ प्रकार के कैंसर जैसी पुरानी स्थितियां विकसित होने का जोखिम बढ़ता है। अगर आप अपने वजन के बारे में परेशान हैं, तो स्वस्थ वजन तक पहुंचने और उसे बनाए रखने की योजना विकसित करने के लिए अपने डॉक्टर या पंजीकृत आहार विशेषज्ञ से बात करना जरूरी है।

एक स्वस्थ बीएमआई कई स्वास्थ्य स्थितियों की रोकथाम में मदद कर सकता है। स्वस्थ बीएमआई से ओवेरियन कैंसर और स्तन कैंसर जैसे कुछ प्रकार के कैंसर का जोखिम कम करने में भी मदद मिल सकती है। इसलिए, अगर आप अपने संपूर्ण स्वास्थ्य में सुधार चाहते हैं, तो स्वस्थ बीएमआई बनाए रखना सबसे अच्छा तरीका है। बीएमआई को समझकर आप अपने स्वास्थ्य जोखिमों में कमी के लिए जरूरी कदम उठा सकते हैं।

कई बार आपका बीएमआई ज्यादा वजन या मोटापे की श्रेणी में भी आ सकता है। हालांकि, इसका मतलब यह नहीं है कि आपको मोटापे से संबंधित स्वास्थ्य समस्याएं हैं। उम्र, लिंग, जातीयता और मांसपेशी द्रव्यमान जैसे कारक एक भूमिका निभाते हैं कि उच्च बीएमआई वाले लोग मोटापे से संबंधित स्वास्थ्य समस्याओं का अनुभव करेंगे या नहीं। इसलिए, बीएमआई के अलावा शारीरिक मोटापे के अन्य उपायों जैसे कमर की परिधि और त्वचा की मोटाई की माप को लेकर अपने डॉक्टर से बात करें।

बॉडी मास इंडेक्स की गणना – Calculation Of Body Mass Index In Hindi

आपका बॉडी मास इंडेक्स आपकी ऊंचाई और वजन के आधार पर गणना है। यह पता लगाने का अच्छा तरीका है कि क्या आप अपनी ऊंचाई के लिए स्वस्थ वजन पर हैं। बीएमआई की गणना के लिए आपको अपना वजन किलोग्राम में मीटर वर्ग में अपनी ऊंचाई से विभाजित करना चाहिए। नतीजे में प्राप्त हुई संख्या का उपयोग तब आपको कम वजन (बीएमआई 18.5 से कम), सामान्य वजन (बीएमआई 18.5 और 24.9 के बीच), ज्यादा वजन (बीएमआई 25 और 29.9 के बीच) या मोटापे (बीएमआई 30 या ज्यादा) के रूप में बांटने के लिए के लिए किया जाता है।

  • पाउंड में अपना वजन 703 से गुणा करें।
  • उस संख्या को इंच में अपनी ऊंचाई से विभाजित करें।
  • उस संख्या को अपनी ऊंचाई से इंच में दोबारा विभाजित करें।
  • ऊपर दिए गए चार्ट से अपने बीएमआई की तुलना करें।

बॉडी मास इंडेक्स और स्वास्थ्य के बीच संबंध 

बीएमआई और स्वास्थ्य के बीच गहरा संबंध है। ज्यादा बीएमआई वाले व्यक्ति दिल की बीमारी, स्ट्रोक, डायबिटीज और कुछ प्रकार के कैंसर सहित स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित होने की ज्यादा संभावना रखते हैं। इसके अलावा कम बीएमआई वाले लोग आमतौर पर स्वस्थ होते हैं और उनमें पुरानी स्थितियों के विकास का कम जोखिम होता है। बीएमआई स्वास्थ्य का सही माप नहीं है, लेकिन यह बताता है कि क्या कोई अपनी ऊंचाई के लिए स्वस्थ वजन पर है।

यही कारण है कि डॉक्टर और अन्य स्वास्थ्य पेशेवर अक्सर वजन से संबंधित स्वास्थ्य जोखिमों की जांच के लिए बीएमआई का उपयोग करते हैं। अगर आपका बीएमआई स्वस्थ सीमा से बाहर है, तो इसका मतलब यह नहीं है कि आप अस्वस्थ हैं। इसका मतलब यह है कि आप कुछ शर्तों के लिए जोखिम में बढ़ोतरी कर सकते हैं। ऐसे में जोखिम में कमी के तरीके जानने के लिए आपको अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

गणना की सीमाएं – Limitations Of Calculations In Hindi

बॉडी मास इंडेक्स आपकी ऊंचाई और वजन की गणना है। यह एक जरूरी संख्या है, जो निर्धारित करने में आपकी मदद कर सकती है कि आप स्वस्थ वजन, ज्यादा वजन या मोटापे से ग्रस्त हैं या नहीं।

आपके लिए बीएमआई की कुछ सीमाओं के बारे में जानना जरूरी है, जैसे:

  1. यह मांसपेशी द्रव्यमान के लिए खाता नहीं है। अगर आपके पास बहुत ज्यादा मांसपेशियां हैं, तो आपका बीएमआई ज्यादा हो सकता है, फिर भले ही आप ज्यादा वसा नहीं ले रहे हों। यही कारण है कि एथलीटों और बॉडीबिल्डर्स का बीएमआई अक्सर ज्यादा होता है। हालांकि, उन्हें ज्यादा वजन या मोटापे से ग्रस्त नहीं माना जाता है।
  2. यह उम्र या लिंग के लिए खाता नहीं है। बीएमआई को उम्र या लिंग के लिए समायोजित नहीं किया जाता है। ऐसे में यह बुजुर्ग लोगों या उन महिलाओं में सटीक नहीं हो सकता है, जिनके शरीर में वसा का प्रतिशत पुरुषों की तुलना में ज्यादा है।
  3. यह गर्भावस्था के लिए जिम्मेदार नहीं है। अगर आप गर्भवती हैं, तो आपका बीएमआई गलत होने की संभावना है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि यह बच्चे, प्लेसेंटा और एमनियोटिक द्रव के अन्य वजन को ध्यान में नहीं रखता है।
  4. अगर आपके पास कुछ स्वास्थ्य स्थितियां हैं, तो यह आपके लिए सटीक तरीका नहीं हो सकता है।
  5. ऑस्टियोपोरोसिस जैसी कुछ स्वास्थ्य स्थितियां आपके बीएमआई नतीजों को प्रभावित कर सकती हैं।

निष्कर्ष – Conclusion In Hindi

स्वास्थ्य और कल्याण में रुचि रखने वाले सभी लोगों के लिए बीएमआई एक जरूरी मीट्रिक है। अपने बीएमआई की गणना से आप एक अच्छा विचार प्राप्त कर सकते हैं कि आप स्वस्थ वजन पर हैं या नहीं। इसके अलावा बीएमआई आपके वजन घटाने के लक्ष्य निर्धारित करने में फायदेमंद हो सकता है, जो यथार्थवादी और प्राप्त करने योग्य हैं। इसलिए अगर आप अपने स्वास्थ्य में सुधार करना चाहते हैं, तो आज ही अपने बीएमआई की गणना करें। साथ ही इसे अपने जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए शुरुआती बिंदु के रूप में उपयोग करें।

वजन घटाने के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए आप फिटमंत्रा से संपर्क कर सकते हैं। हमारे वजन घटाने या वजन बढ़ाने के कार्यक्रम से आप अपना बेहतर वजन प्राप्त कर सकते हैं। आप हमारे ऑनलाइन पोषण परामर्श के माध्यम से अनुभवी पोषण विशेषज्ञों से भी संपर्क कर सकते हैं। वह प्रक्रिया के जरिए आपका मार्गदर्शन और फिटनेस लक्ष्यों को प्राप्त करने में आपकी मदद करने में सक्षम हैं। इससे संबंधित ज्यादा जानने के लिए हमारा फिटनेस ऐप डाउनलोड करें।

1 thought on “बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई): महत्व और सीमाएं – Body Mass Index (BMI): Importance And Limitations In Hindi”

  1. My partner and I stumbled over here coming from a different page and thought I should check things out. I like what I see so i am just following you. Look forward to looking into your web page repeatedly.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *